ताज़ा खबरें

डिजीटल मीडिया में पैठ बनाने के लिए जरूरी है कंटेंट प्लानिंग एवं बेहतर सर्वर तकनीक का ज्ञान

आकाश ज्ञान वाटिका। रविवार, ९ फ़रवरी, २०२०, देहरादून।

आईटूकेटू (i2k2) नेटवर्क और कल्पा स्टूडियोज (KALPA STUDIOS) के तत्वाधान में आयोजित वर्कशॉप में एक्सपर्ट्स द्वारा डिजिटल मीडिया में लगातार हो रहे बदलावों से रूबरु कराया गया। 

  • वेब मीडिया में मौलिकता और विशिष्टता ही आपको औरों से अलग खड़ा करती है।                                                                                                                                                                                              ……….समीर दत्ता, कल्पा स्टूडियोज  

 

  • डिजीटल मीडिया में पैठ बनाने के लिए जरूरी है कि एक बेहतर सर्वर तकनीक का प्रयोग किया जाए।                                                                                                                                                    ………कमलेश्वर भट्ट, सीओओ, आईटूकेटू (i2k2) नेटवर्क

 

  • वेबमीडिया कंटेंट की विशिष्टता बेहद अहम है और इसकी बदौलत आय भी हो सकती है।                                                                                                                                                                                 ……………..सुनील भट्ट, हेड, रफ्तारडॉटइन

 

  • ग्लोबल होती दुनिया में तकनीक बेहद जल्दी जल्दी उन्नत होती रहती है। ऐसे में अपडेट रहना बेहद जरूरी है।                                                                                                                                                        ……….आशीष तिवारी, कार्यक्रम कोऑर्डिनेटर  

आज का युग डिजिटल मीडिया का युग है। आज की इस भाग – दौड़ भरी जीवन शैली में समय का विशेष महत्त्व है। हर कोई चाहता है कि कम समय में ही वह बहुत कुछ प्राप्त कर पाए। ठीक यही सोच आज के पाठकों की भी होती है कि कम समय में ही वह अपने मन पसंद लेख पढ़ सकें। इसके लिए वह डिजिटल मीडिया का सहारा लेते हैं।
डिजिटल मीडिया के क्षेत्र में काम कर रहे लोगों का मुख्य उद्देश्य है, पाठकों की उनकी आवश्यकतानुसार उन्हें ताजा कंटेंट उपलब्ध कराना।
आज आईटूकेटू (i2k2) नेटवर्क और कल्पा स्टूडियोज (KALPA STUDIOS) के तत्वाधान में आयोजित कार्यशाला में जिन विषयों पर डिजिटल मीडिया के विशेषज्ञों द्वारा विचार रखे गए, वह इस क्षेत्र में काम कर रहे, डिजिटल मीडिया पत्रकारों के लिए विशेष महत्वपूर्ण हैं।

डिजिटल मीडिया में विशिष्टता और मौलिकता बेहद जरूरी – एक्सपर्ट्स

तेजी से पैर पसारती डिजीटल मीडिया में कंटेंट की विशिष्टता और मौलिकता बेहद जरूरी है। ये मानना है डिजिटल मीडिया के एक्सपर्ट्स का। रविवार को देहरादून में त्यागी रोड स्थित एक होटल में डिजीटल मीडिया जर्नलिज्म इन 2020 विषय पर आयोजित वर्कशॉप में एक्सपर्ट्स ने अपने विचार डिजीटल मीडिया में काम कर रहे उत्तराखंड के वेब पत्रकारों और अन्य वेबसाइट ओनर्स के साथ साझा किए। इसके साथ ही उन्हें डिजिटल मीडिया में लगातार हो रहे बदलावों से भी रूबरु कराया।

कंटेंट दिलाएगी पहचान
वेबसाइट्स के लिए कंटेट प्लानिंग और अन्य तकनीकों के बारे में जानकारी कल्पा स्टूडियोज से समीर दत्ता ने दी। समीर दत्ता ने वर्कशॉप में मौजूद वेबमीडिया के पत्रकारों को कंटेंट प्लानिंग कैसे करें और डिजिटल दुनिया में वेबसाइट्स की बढ़ती भीड़ के बीच कैसे अपने को अलग खड़ा किया जाए इसके संबंध में जानकारी दी। समीर दत्ता की माने तो किसी भी वेब मीडिया में मौलिकता और विशिष्टता ही आपको औरों से अलग खड़ा करती है।

तकनीक की जानकारी अहम
इस वर्कशॉप में वेबमीडिया से जुड़े पत्रकारों और अन्य लोगों को क्लाउड और सर्वर तकनीकों की जानकारी भी दी गई। आईटूकेटू नेटवर्क के सीओओ कमलेश्वर भट्ट ने इस संबंध में जानकारी दी। कमलेश्वर भट्ट के मुताबिक किसी भी वेबमीडिया में सर्वर तकनीक एक बेहद अहम हिस्सा है। सर्वर और वेबसाइट्स का ट्रैफिक एक दूसरा के पूरक होते हैं। डिजीटल मीडिया में पैठ बनाने के लिए जरूरी है कि एक बेहतर सर्वर तकनीक का प्रयोग किया जाए। आमतौर पर वेबसाइट ओनर्स इस संबंध में बहुत अधिक जानकारी नहीं रखते हैं लिहाजा बेहतर कंटेंट क्रिएट करने के बावजूद वेबमीडिया में हाई रैंकिग नहीं मिल पाती।

आय के लिए प्लानिंग जरूरी
वेबमीडिया के जरिए एक तरफ लोगों को जागरुक किया जा सकता है वहीं इसे एक इंटरप्रेन्योरशिप के तौर पर भी देखा जा रहा है। हालांकि सही मार्गदर्शन और प्लानिंग के अभाव में अधिकतर बेवमीडिया ओनर्स इसमें सफल नहीं हो पाते। वर्कशॉप में इस मसले पर रफ्तारडॉटइन के हेड और वेबमीडिया के रेवेन्यू मॉडल के विशेषज्ञ सुनील भट्ट ने जानकारी दी। सुनील भट्ट के मुताबिक वेबमीडया से जुड़े लोग न सिर्फ किसी विशिष्ट विषय की जानकारी को ग्लोबल पहुंच दे सकते हैं बल्कि अपनी विशेषज्ञता की बदौलत इससे बेहतर आय भी बना सकते हैं। सुनील भट्ट की माने तो वेबमीडिया कंटेंट की विशिष्टता बेहद अहम है और इसकी बदौलत आय भी हो सकती है। गूगल एडसेंस और गूगल एड एक्सचेंज जैसे विषयों की भी जानकारी दी गई।

इस पूरे कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर आशीष तिवारी ने वेबमीडिया से जुड़े पत्रकारों को नई तकनीक की जानकारी रखने और उनके हिसाब से काम करने की सलाह दी। आशीष तिवारी की माने तो ग्लोबल होती दुनिया में तकनीक बेहद जल्दी जल्दी उन्नत होती रहती है। ऐसे में अपडेट रहना बेहद जरूरी है।

 

 

 

 

 

आईटूकेटू नेटवर्क और कल्पा स्टूडियोज के जरिए आयोजित इस वर्कशॉप में विशेष तौर पर पूर्व राज्यमंत्री मनीष वर्मा और वरिष्ठ पत्रकार अतुल बरतरिया ने भी शिरकत की। इसके साथ ही वेबमीडिया से जुड़े अन्य पत्रकारों ने भी अपनी उपस्थिती दर्ज कराई।

About Ghanshyam Chandra Joshi

I am ex- Hydrographic Surveyor from Indian Navy. I am interested in social services, educational activities, to spread awareness on the global issues like environmental degradation, global warming. Also I am interest to spread awareness about the Junk food.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*