ताज़ा खबरें

जिलाधिकारी सविन बंसल की सराहनीय पहल – 5 किमी का दुर्गम क्षेत्र पैदल पार कर, क्षेत्र-वासियों की समस्यायें सुनी – मौके पर ही जनसमस्याओं का किया निराकरण

आकाश ज्ञान वाटिका। नैनीताल, 17 जनवरी 2020(सूचना)। 16 जनवरी 2020 को तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार गुरूवार को बरसात के रिमझिम फुवारों केे बीच युवा जिलाधिकारी श्री सविन बंसल विकास खण्ड भीमताल के दुरस्थ क्षेत्र देवीधुरा, तोक जमीरा पहुँचे और विकास कार्यों के जायजे के साथ ही क्षेत्र वासियों की समस्यायें सुनकर उनका मौके पर निराकरण किया।

  समाज के प्रति सदैव समर्पित, सामाजिक कार्यों के प्रति सजग एवं सतत प्रयासरत, युवा-कर्मठ जिलाधिकारी श्री सविन बंसल की सराहनीय पहल एवं प्रेरणाप्रद कार्यों के लिए आकाश ज्ञान वाटिका परिवार, उन्हें बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनायें प्रेषित करता है।  

  • देवीधुरा व जमीरा पहुँचने पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी का उत्साह पूर्वक फूल-मालाओं से स्वागत एवं अतिथ्य सत्कार करते हुए आभार व्यक्त किया। 
  • जिलाधिकारी की सराहनीय पहल से गदगद होकर क्षेत्रवासियों द्वारा जिलाधिकारी का फूल-मालाओं व ढोल द्वारा भव्य स्वागत किया गया।
  • आजादी मिलने के लम्बा अरसा बीतने के बाद कोई जिलाधिकारी क्षेत्र में मोटर मार्ग न होने पर भी विषम एवं दुर्गम पैदल मार्ग से चलकर ग्रामीणों की समस्याएं एवं दुःख-दर्द जानने व उनका मौके पर ही निराकरण करने के लिए पहली बार पहुँचा है।
  • जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि प्रत्येक क्षेत्र का चहुॅमुखी एवं संतुलित विकास हो ताकि दुर्गम से दुर्गम क्षेत्र भी विकास की मुख्य धारा से पीछे न रहें और सरकार पर विश्वास बना रहे।
  • जिलाधिकारी ने कहा कि भ्रमण का उद्देश्य ये भी जानना है कि ग्रामीण स्तर तक पहुँचने वाली सुविधाओं का लाभ ग्राम वासियों को मिल रहा है या नहीं और क्षेत्रीय कर्मचारी एवं अधिकारी अपने कार्य क्षेत्रों में कितनी मुस्तेदी से कार्य कर रहे हैं।

जिलाधिकारी के साथ अन्य प्रशासनिक अधिकारी लगभग 5 किमी का दुर्गम क्षेत्र पैदल पार कर जमीरा पहुँचे। जिलाधिकारी श्री सविन बंसल के देवीधुरा व जमीरा पहुँचने पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी का उत्साह पूर्वक फूल-मालाओं से स्वागत एवं अतिथ्य सत्कार करते हुए आभार व्यक्त किया। ग्रामीणों का कहना था कि आजादी मिलने के लम्बा अरसा बीतने के बाद कोई जिलाधिकारी क्षेत्र में मोटर मार्ग न होने पर भी विषम एवं दुर्गम पैदल मार्ग से चलकर ग्रामीणों की समस्याएं एवं दुःख-दर्द जानने व उनका मौके पर ही निराकरण करने के लिए पहली बार पहुँचा है।
क्षेत्रवासियों की प्रमुख समस्या, देवीधुरा-जमीरा मोटर मार्ग निर्माण, जो पिछले 5 साल से क्षतिपूरक वन की समस्या के कारण लम्बित था, उसे जिलाधिकारी श्री बंसल के विशेष प्रयासों से समाधान कर दिया गया है और क्षतिपूरक भूमि हेतु 8 हैक्टेयर भूमि उपलब्ध करा दी गयी है। इसी प्रकार गत तीन वर्षों से मनोरा में जीर्ण-क्षीर्ण पेयजल टैंक के कारण क्षेत्र वासियों को पेयजल की किल्लत रहती थी, जिसे जिलाधिकारी के निर्देशों पर जल संस्थान द्वारा मरम्मत कर सुचारू कर दिया गया है, जिससे देवीधुरा, पटवाडांगर, बल्दिखान, मनोरा, कूूण, आडूखान क्षेत्र के की जनता को पर्याप्त मात्रा में पेयजल आपूर्ति हो रही है, जिससे गदगद होकर क्षेत्रवासियों द्वारा जिलाधिकारी का फूल-मालाओं व ढोल द्वारा भव्य स्वागत किया गया।
श्री बंसल ने बताया कि बोहरा गाॅव-नाई सिला मोटर मार्ग निर्माण कार्य हेतु आरएसी करा दी गयी है और आपत्तियों का भी निस्तारण कर दिया गया है। श्री बंसल ने कहा कि निर्माण कार्य अब शीघ्र ही धरातलीय रूप लेगा। शिविर में पेयजल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बताया कि क्षेत्र की पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए देवीधुरा पम्पिंग योजना की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति हेतु प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। देवीधुरा-बोहरा गाॅव रोड निर्माण कार्य लम्बित होने पर क्षेत्रीय जनता की नराजगी को देखते हुए जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई केएस बिष्ट को उनके माध्यम से डीओ लेटर शासन को प्रेषित करने के निर्देश दिए। श्री बंसल ने अधिशासी अभियंता को निर्देश दिए कि स्टेज-2 के कार्यों के बाॅण्ड एवं टेण्डर प्रक्रिया शीघ्र पूरी कराने तथा काश्तकारों को उनकी भूमि का मुआवजा शीघ्र वितरित करने हेतु फाईल तैयार करने के निर्देश दिए।
राजकीय प्राथमिक विद्यालय जमीरा में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित जनमिलन कार्यक्रम एवं बहुउददेशीय शिविर की अध्यक्षता जिलाधिकारी श्री सविन बंसल द्वारा की गई, इस मौके पर ब्लाक प्रमुख डा० हरीश बिष्ट व अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। भ्रमण के दौरान श्री बंसल ने सड़क, विद्युत, पेयजल, सिंचाई, मनरेगा आदि से संबंधित समस्याओं व कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया। श्री बंसल ने पैदल भ्रमण के दौरान कृषि, उद्यान एवं स्वरोजगार की संभावनाओं पर ग्रामीणों से विस्तार से बातचीत की। जिलाधिकारी श्री बंसल ने ग्रामीणों की आजीविका के संसाधनों से रूबरू होकर ग्रामीणों के लिए सरकार द्वारा संचालित एनआरएलएम आदि योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रेरित किया।
श्री बंसल ने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि प्रत्येक क्षेत्र का चहुॅमुखी एवं संतुलित विकास हो ताकि दुर्गम से दुर्गम क्षेत्र भी विकास की मुख्य धारा से पीछे न रहें और सरकार पर विश्वास बना रहे। श्री बंसल ने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रत्येक गरीब एवं पात्र व्यक्ति को मिलना चाहिए। श्री बंसल ने कहा कि सुदूरवर्ती दुर्गम ग्रामीण क्षेत्रों एवं अंचलों में शिविर आयोजित करने का उद्देश्य है कि क्षेत्र-वासियों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही हो सके और ग्रामवासियों को मुख्यालय के चक्कर न लगाने पड़े। इसके साथ ही भ्रमण का उद्देश्य ये भी जानना है कि ग्रामीण स्तर तक पहुँचने वाली सुविधाओं का लाभ ग्राम वासियों को मिल रहा है या नहीं और क्षेत्रीय कर्मचारी एवं अधिकारी अपने कार्य क्षेत्रों में कितनी मुस्तेदी से कार्य कर रहे हैं।
आयोजित शिविर में श्री बंसल ने ग्रामीणों से कहा कि अपनी समस्याओं व परेशानियों के विषय में निःसंकोच अपनी शिकायत एवं बात लिखित एवं मौखिक रूप में सम्बन्धित विभागों से रखनी चाहिए। श्री बंसल ने कहा कि समस्याओं के निराकरण में हीलाहवाली करने वाले अधिकारियोें के खिलाफ सीधे तौर पर लिखित में शिकायत करें। हीलाहवाली करने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
शिविर में निवासी जमीरा भूपाल सिंह ने बताया कि उरेडा द्वारा विद्युत पनचक्की बनाई गई थी जो क्षतिग्रस्त हो गई है। उन्होंने चक्की निर्माण हेतु आर्थिक सहायता की मांग की, जिस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को जिला योजना से क्षतिग्रस्त पनचक्की रिपेयर करने के निर्देश दिये। पुरन सिंह निवासी ग्राम सौलिया ने बताया कि सुरक्षा दीवार नहीं होने से उनका मकान को खतरा हो गया है, इसलिए सुरक्षा दीवार बनाने का निवेदन किया, जिस पर जिलाधिकारी ने जिला विकास अधिकारी को मनरेगा से कार्य कराने के निर्देश मौके पर दिये। क्षेत्र पंचायत सदस्य खुर्पाताल के ग्राम वासियों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र में अवगत कराया कि बजून पेयजल लाईन मे 10 दिनों से क्षतिग्रस्त होने के कारण पेयजल बाधित हो गया है, जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता पेयजल को मौके पर जाकर स्टेटस रिपोर्ट कर शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कविता आर्या ग्राम देवीधुरा ने अपने आवेदन में जिलाधिकारी को पढ़ाई हेतु आर्थिक सहायता दिये जाने की मांग की, जिस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से आर्थिक सहायता दिलाने हेतु पत्र भेजने के निर्देश दिये। मनोज सिह मेहता ग्राम बेजुवाखांन ने वाटर टैक सिचाई हेतु बनवाने की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने जिला विकास अधिकारी को उद्यान विभाग से सिचाई टैक बनावाने के निर्देश दिये। खष्टी बिनौली निवासी पटवांडांगर ने प्रार्थना पत्र मे कहा कि मेरा मकान क्षतिग्रस्त हो गया है, आवास दिलाने का अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी श्री बंसल ने परियोजना निदेशक डीआरडीए को निर्देश दिये कि वे प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास दिलाने हेतु कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
शिविर में विभिन्न विभागों द्वारा स्टाॅल लगाकर योजनाओं की विस्तृत जानकारियाॅ दी। शिविर में 49 शिकायतें एवं समस्याएं दर्ज हुई, जिसमें से अधिकांश का निराकरण मौके पर ही किया गया तथा शेष शिकायतों को सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया गया। शिविर में चिकित्सा विभाग द्वारा 49 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर निःशुल्क दवाई वितरित की। ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर द्वारा 19 व्यक्तियों का आधार कार्ड शुद्धीकरण कार्य व 9 व्यक्तियों के नए आधार कार्ड हेतु पंजीकरण कराया गया। पूर्ति विभाग द्वारा 6 राशन कार्डों का डिजिटाईजेशन एवं शुद्धीकरण, समाज कल्याण विभाग द्वारा विभिन्न पेंशन योजनाओं के 17 फार्म भरवाऐ गए। कृषि विभाग द्वारा 4 बोतल पैस्टीसाइड, 5 कृषि यन्त्र व 1 फार्म प्रधानमंत्री किसान सम्मान मानधन योजना के फार्म भरवाये गये। पंचायतीराज विभाग द्वारा 39 परिवार रजिस्टर की नकल, 15 जम्न-मृत्यु प्रमाण पत्र व 28 बीपीएल क्रमांक जारी किए गए। उद्योग विभाग द्वारा 32 लोगों को विभिन्न ऋण योजनाओं की जानकारी दी गयी। श्रम विभाग द्वारा 13 व्यक्तियों के श्रम कार्ड हेतु पंजीकरण किया गया।
शिविर में ज्येष्ठ प्रमुख हिमांशु पाण्डे, क्षेत्र पंचायत सदस्य विक्रम सिंह कनवाल, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, एपीडी संगीता आर्या, डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह, अधिशासी अभियंता लोनिवि डीएस कुटियाल, जल संस्थान एसके उपाध्याय, विद्युत एसएस उस्मान, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध, सहित क्षेत्रीय जनता व अधिकारी मौजूद थे।

About Ghanshyam Chandra Joshi

I am ex- Hydrographic Surveyor from Indian Navy. I am interested in social services, educational activities, to spread awareness on the global issues like environmental degradation, global warming. Also I am interest to spread awareness about the Junk food.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*